जैन राजनैतिक चेतना मंच

जैन धर्म विश्व के प्रचीनतम धर्में में से एक हे, जैन धर्म के अनुसार हमारे प्रथम जैन तीर्थंकर भगवान ऋषभ देव ने असि, मसि व कृषि की शिक्षा दी। भारत वर्ष में जैन समाज की समृद्धिशाली, संस्कृति, पुरातत्व व स्थापत्य धरोहर हैं। सम्पूर्ण राष्ट्र में जैन धर्म के अनुयायी व्यापार, उद्योग, शिक्षा, अध्ययन सभी क्षेत्रों में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं। देश के जनसंख्याकारों के अनुसार 94.1 प्रतिशत जैन समाज की जनसंख्या शिक्षित है। सन् 2011 के जनसंख्याकारा के अनुसार हमारी कुल आबादी 45 लाख बताई गई है परन्तु ऐसा प्रतीत होता है कि या तो शिक्षित होते हुए भी हमारे हमारे समाज के लोगों के धर्म के कालम को अनजाने में महत्व नहीं दिया अथवा जनगणना कर्मियों ने इस कॉलम में हिन्दू वर्णित कर दिया अथवा अनजाने में हिन्दू लिखवा दिया गया। सामाजिक सूत्रों व मुम्बई उच्च न्यायालय के एक आदेश का संदर्भ लें तो जैन धर्मावालम्बियों की संख्या एक करोड़ से ऊपर मानी गयी हैं।

 

इस लगभग 2 करोड़ से अधिक जनसंख्या वाला समाज सभी क्षेत्रों में अग्रणी भूमिका निभाने के बावजूद भी यह मात्र संयोग या दुर्भाग्य की कहा जाएगा कि समाज की राजैनिक क्षेत्र में भागीदारी निरन्तर कम होती जा रहा हैं। यदि संविधान सभा में हमारे समाज के पांच प्रतिनिधि थें, प्रथम लोकसभा में 35 व वर्तमान लोकसभा में मात्र दो प्रतिनिधि समाज की घटती राजनैतिक शक्ति की स्पष्ट झलक है। ऐसी ही स्थिति राज्यों की विधान स्थल, बहुमूल्य पुरातत्व मूर्तियों व स्थापत्य कला के साथ-साथ उद्योग व व्यापार का संरक्षण व संवर्धन कैसे करें। वर्तमान में बिना राजनैतिक हिस्सेदारी के यह संभव नहीं हैं। हमें परोक्ष राजनैतिक भूमिका के स्थान पर राजनैतिक हिस्सेदारी की आवश्यकता है और उसे प्राप्त करने के लिए हमें संगठित होकर अपने एक राजनैतिक संगठन को एकजुट होकर खड़ा करना होगा। गत वर्षों से हम इस प्रयास में कार्य कर रहे है और उसके अच्छे परिणाम भी परिलक्षित हो रहे हैं।

 


What we are up to

 Sep 8, 2016  Sep 8, 2016
 जैन राजनैतिक चेतना मंच की राष्ट्रीय कार्यकारिणी
की बैठक दिनांक 24 सितम्बर, 2016 को प्रातः 10 बजे
‘राजेन्द्र भवन, 210, दीनदयाल उपाध्याय मार्ग,
आईटीओ के पास, नई दिल्ली-110002’ में आयोजित…
 जैन राजनैतिक चेतना मंच के राष्ट्रीय संयोजक
श्री प्रदीप जैन आदित्य (पूर्व केंद्रीय मंत्री भारत सरकार) को
जन्म दिन की अनेको बधाई एवं शुभकामनायें |